Notice of Nationwide Agitation of EPS 95 Pensioners

To,

The Hon. Shri Bhupender Ji Yadav,

Minister for Labor and Employment,

Ministry Of Labour & Employment, Government of India, New Delhi-110001

Sub:- Notice of Nationwide agitation on 7th December 2023 at Ramlila Maidan & there after at Janter Mantar, New Delhi against non-settlement of the long Pending Demands of EPS-95 Pensioners.

Ref:- 1) The recent correspondence from the National Agitation Committee, dated 31.10.2023

2) Our tri-party meeting with the Ministry of Labour and Employment, the Finance Secretary and the E.P.F.O. at New Delhi for the redressal of Various issues initiated by the N.A.C.

3) The reply given to unstarred question no. 1690 (Rajyasabha) on 03/08/2023 by the MOS (Labor and Employment)

Hon. Sir,

The National Agitation Committee for 7558913 pensioners (up to 2022-23) urged to fulfill our demands. The EPS pension fund has corpus of Rs. 780308.93 Crores at the end of the financial year 2022-23. Increase in minimum pension to the extent of Rs. 7500 per month along with compensation for price rise is possible. 

At present expenditure on pension is @ 30% of the interest earned per year which has a wide scope in enhancement in minimum pension. 

The frequent prayers of pensioners are fallen on deaf ears of the Ministry and the top brasses of the E.P.F.O. & thus the issue of minimum pension has got no momentum for its rise as per the financial needs of the old age pensioners. 

The issue has been kept /remained idle /static. 

The Honorable Minister Of State expressed falsely stated in the Parliament that there is no proposal to increase in minimum pension notwithstanding the fact that the demands of the

pensioners have been widely spread over at all the ministries, before the Honorable

Members of the Parliament & at the E.P.F.O. offices and so on & so forth.

The Negligent, indifferent & callous attitude of the Honorable Minister Of State for

Labor & employment & the stalwarts of the EPFO compelled us to serve the Notice of

Agitation to settle the justified demands of the National Agitation Committee for

InEPS-95 by way of the agitation.

Therefore, with an empowerment as chairman/president of the National Agitation

committee, I am serving this notice of agitation. The course of which shall be as

under. The nationwide pensioners shall observe whole day dharana /demonstratios

and peaceful picketing at Ramlila Ground, New Delhi on 07/12/2023 from 11 a.m.

onwards.

1.

The Chain hunger strike at Jantar- Manter at New Dehli from 08/12/2023. 

The list of the participants in thr chain hunger strike is annexed herewith as a ready reference. 

The Chain hunger strike will continue till the date 24 December 2023 & may extend beyond the date as per the circumstances prevailed at the relevant period.

The demands are not new & continuedto stand since the year 2017, the base of which is the petition praying for amendment in the Employees’ Pension Scheme, 1995 addressedto the Council of states (Rajya Sabha) on 14/05/2012 by Honorable Shri Prakashji Jaw dekar the then Member of Rajya Sabha. Accordingly the Committee of petitions have been constituted under the chairmanship of shri Bhagat Singh Koshyari, the then M.P. of the Rajya Sabha. 

The Committee recommended positively. 

Thus our demands are coherent with the recommendation of the Koshyari committee which is as under.

a) Ensure minimum pension of Rs. 7500 or more per month with necessary budgetary support if need be.

b) Pension under EPS-95 to be linked with inflation and thus Dearness Allowance to be declared from time to time on par with declaration by the Central Government.

c) Government should contribute @8.33% instead of 1.16% sothat equality shall be maintained in contribution by the Employee and the Government which will be leverage in enhancement of the Pension Fund maintained by the Central Government.

d) Restore all the facilities withdrawn by the central Government during 2008 related with Commutation of pension and return of Capital.

e) All other welfare measures brought to the notice of the Central Government by the National Agitation Committee, EPS-1995/

f). Applicability of the higher pension to the pre-retirees of 01/09/2014.

g) Abnormal delay to be avoided & immediate action to grant higher pension to

eligible pensioners retired after 01/09/2014 or exit at the age of 58 after 01/09/2014.

4) The National Agitation Committee humbly submits to consider the demands

narrated above before 07/12/2023 & please maintain the peace & harmony between

the pensioners and the ministry of labor & employment. If nothing is communicated

the agitation will be commenced with effect from 07/12/2023 & will be continued till

the last date of hunger strike. The impugned agitation will be intensified thereafter.

The cost & consequences arising from the notified agitation or intensified agitation

shall lie onthe Ministry of labor & Employment & its offices under the administrative

control of the Ministry.

2.

In view of the issues narrated in foregoing Paragraphs the National Agitation Committee, EPS-95 once again urge to your kind honor to Please do not constraint us to aggravate the situation beyond our control and please settle the dust soon before gathering a momentum from of fast unto death from 7th December 2023..

The negotiations & settlement before 7th December 2023 shall highly be appreciated. 

It is once again prayed to please approve the long pending demands & please extend happiness & joy to the old aged pensioners. Please do not attempt to feeble the pensioners.

Submitted this on 21st November 2023 with ray of hope of for fulfilling the needs of EPS-95 pensioners.. 

Thanks!

Yours faithfully

(Commander Ashok Raut) National President National Agitation Committee EPS-95

Copy Submitted with respect to

* The Honorable Prime Minister of India, New Delhi.

*The Honorable Home Minister, Government of India, New Delhi

*The Honorable Minister for Finance, Government of India, New Delhi *All The Honorable Members of Parliament of India.

* The Honorable Dr. T. V. Somnathan Ji, Secretary [Finance & Expenditure] New Delhi

* The Honorable CPFC, New Dehli

* The Honorable Members of Central Board of Trustees, EPFO New Delhi

*The Honorable Commissioner of Police, New Delhi

3.

HINDI

Translated from the English version

Please refer to the English version for any clarity

To,

 माननीय.  श्री भूपेन्द्र जी यादव, श्रम एवं रोजगार मंत्री, श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली-110001

 विषय:- ईपीएस-95 पेंशनभोगियों की लंबे समय से लंबित मांगों का समाधान न होने के खिलाफ 7 दिसंबर 2023 को रामलीला मैदान और उसके बाद जंतर मंतर, नई दिल्ली में राष्ट्रव्यापी आंदोलन की सूचना।

 संदर्भ:- 1) राष्ट्रीय आंदोलन समिति का हालिया पत्राचार, दिनांक 31.10.2023

 2) श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, वित्त सचिव और ई.पी.एफ.ओ. के साथ हमारी त्रिपक्षीय बैठक।  एन.ए.सी. द्वारा शुरू किए गए विभिन्न मुद्दों के निवारण के लिए नई दिल्ली में।

 3) अतारांकित प्रश्न संख्या का उत्तर दिया गया।  1690 (राज्यसभा) 03/08/2023 को राज्य मंत्री (श्रम एवं रोजगार) द्वारा

 माननीय.  महोदय,

 7558913 पेंशनभोगियों (2022-23 तक) के लिए राष्ट्रीय आंदोलन समिति ने हमारी मांगों को पूरा करने का आग्रह किया।  ईपीएस पेंशन फंड में रुपये का कोष है।  वित्तीय वर्ष 2022-23 के अंत में 780308.93 करोड़।  न्यूनतम पेंशन में रु. की सीमा तक वृद्धि।  7500 प्रति माह के साथ-साथ मूल्य वृद्धि का मुआवजा भी संभव है।  वर्तमान में पेंशन पर व्यय प्रति वर्ष अर्जित ब्याज का 30% है जिससे न्यूनतम पेंशन में वृद्धि की व्यापक गुंजाइश है।  पेंशनभोगियों की बार-बार की जाने वाली प्रार्थनाओं पर मंत्रालय और ई.पी.एफ.ओ. के शीर्ष अधिकारी अनसुना कर देते हैं।  और इस प्रकार वृद्धावस्था पेंशनभोगियों की वित्तीय आवश्यकताओं के अनुरूप न्यूनतम पेंशन के मुद्दे को बढ़ने की कोई गति नहीं मिली है।  समस्या को निष्क्रिय/स्थिर रखा गया है।  माननीय राज्य मंत्री ने संसद में यह गलत कहा कि उनकी मांगों के बावजूद न्यूनतम पेंशन में वृद्धि का कोई प्रस्ताव नहीं है।

 माननीय से पहले सभी मंत्रालयों में पेंशनभोगी व्यापक रूप से फैले हुए हैं

 संसद सदस्य और ई.पी.एफ.ओ.  कार्यालय इत्यादि इत्यादि।

 माननीय राज्य मंत्री का लापरवाह, उदासीन और संवेदनहीन रवैया

 श्रम एवं रोजगार और ईपीएफओ के दिग्गजों ने हमें नोटिस देने के लिए मजबूर किया

 राष्ट्रीय आंदोलन समिति की जायज मांगों के समाधान हेतु आंदोलन

 आंदोलन के माध्यम से ईपीएस-95.

 इसलिए, राष्ट्रीय आंदोलन के अध्यक्ष/अध्यक्ष के रूप में एक सशक्तिकरण के साथ

 समिति, मैं आंदोलन का यह नोटिस दे रहा हूं।  जिसकी प्रक्रिया इस प्रकार होगी

 अंतर्गत।  राष्ट्रव्यापी पेंशनभोगी पूरे दिन धरना/प्रदर्शन करेंगे

 एवं दिनांक 07/12/2023 को प्रातः 11 बजे से रामलीला मैदान, नई दिल्ली में शांतिपूर्ण धरना।

 से आगे।

 1.

 08/12/2023 से नई दिल्ली के जंतर-मंतर पर श्रृंखलाबद्ध भूख हड़ताल।  क्रमिक भूख हड़ताल में भाग लेने वालों की सूची तत्काल संदर्भ के रूप में संलग्न है।  श्रृंखलाबद्ध भूख हड़ताल दिनांक 24 दिसंबर 2023 तक जारी रहेगी और प्रासंगिक अवधि में प्रचलित परिस्थितियों के अनुसार तिथि से आगे भी बढ़ सकती है।

 मांगें नई नहीं हैं और वर्ष 2017 से चली आ रही हैं, जिसका आधार माननीय श्री प्रकाशजी द्वारा 14/05/2012 को राज्यों की परिषद (राज्य सभा) को संबोधित कर्मचारी पेंशन योजना, 1995 में संशोधन के लिए प्रार्थना करने वाली याचिका है।  जॉ डेकर राज्य सभा के तत्कालीन सदस्य थे।  तदनुसार, तत्कालीन सांसद श्री भगत सिंह कोश्यारी की अध्यक्षता में याचिका समिति का गठन किया गया है।  राज्य सभा का.  समिति ने सकारात्मक अनुशंसा की.  इस प्रकार हमारी मांगें कोश्यारी समिति की सिफ़ारिशों के अनुरूप हैं जो इस प्रकार हैं।

 क) न्यूनतम पेंशन रु. सुनिश्चित करें।  यदि आवश्यक हो तो आवश्यक बजटीय सहायता के साथ प्रति माह 7500 या अधिक।

 बी) ईपीएस-95 के तहत पेंशन को मुद्रास्फीति से जोड़ा जाएगा और इस प्रकार केंद्र सरकार द्वारा घोषणा के अनुरूप समय-समय पर महंगाई भत्ता घोषित किया जाएगा।

 ग) सरकार को 1.16% के बजाय 8.33% का योगदान देना चाहिए ताकि कर्मचारी और सरकार के योगदान में समानता बनी रहे जो केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए पेंशन फंड को बढ़ाने में सहायक होगी।

 घ) 2008 के दौरान केंद्र सरकार द्वारा पेंशन के कम्युटेशन और पूंजी की वापसी से संबंधित सभी सुविधाओं को बहाल किया जाए।

 ई) राष्ट्रीय आंदोलन समिति, ईपीएस-1995/ द्वारा केंद्र सरकार के ध्यान में लाए गए अन्य सभी कल्याणकारी उपाय

 एफ)।  01/09/2014 से पूर्व सेवानिवृत्त लोगों के लिए उच्च पेंशन की प्रयोज्यता।

 छ) असामान्य देरी से बचा जाए और उच्च पेंशन देने के लिए तत्काल कार्रवाई की जाए

 पात्र पेंशनभोगी 01/09/2014 के बाद सेवानिवृत्त हुए या 01/09/2014 के बाद 58 वर्ष की आयु में बाहर निकले।

 4) राष्ट्रीय आंदोलन समिति विनम्रतापूर्वक मांगों पर विचार करने के लिए प्रस्तुत है

 07/12/2023 से पहले उपरोक्त वर्णित और कृपया बीच शांति और सद्भाव बनाए रखें

 पेंशनभोगी और श्रम एवं रोजगार मंत्रालय।  अगर कुछ भी संप्रेषित नहीं किया गया है

 आंदोलन 07/12/2023 से शुरू किया जाएगा और तब तक जारी रहेगा

 भूख हड़ताल की आखिरी तारीख.  इसके बाद उग्र आंदोलन तेज किया जायेगा.

 अधिसूचित आंदोलन या तीव्र आंदोलन से उत्पन्न होने वाली लागत और परिणाम

 यह श्रम एवं रोजगार मंत्रालय और उसके प्रशासनिक कार्यालयों पर स्थित होगा

 मंत्रालय का नियंत्रण.

 2.

 उपरोक्त अनुच्छेदों में बताए गए मुद्दों को ध्यान में रखते हुए, राष्ट्रीय आंदोलन समिति, ईपीएस-95 एक बार फिर आपसे आग्रह करती है कि कृपया हमें हमारे नियंत्रण से परे स्थिति को खराब करने के लिए बाध्य न करें और कृपया अनशन से गति पकड़ने से पहले जल्द ही मामले को निपटा लें।  7 दिसंबर 2023 से मृत्यु तक..

 7 दिसंबर 2023 से पहले की बातचीत और समझौते की अत्यधिक सराहना की जाएगी।  एक बार फिर प्रार्थना है कि कृपया लंबे समय से लंबित मांगों को मंजूरी दें और कृपया वृद्ध पेंशनभोगियों को खुशी और खुशी प्रदान करें।  कृपया पेंशनभोगियों को कमजोर करने का प्रयास न करें।

 ईपीएस-95 पेंशनभोगियों की जरूरतों को पूरा करने की आशा की किरण के साथ 21 नवंबर 2023 को इसे जमा किया.. धन्यवाद!

 आपका विश्वासी

 (कमांडर अशोक राऊत) राष्ट्रीय अध्यक्ष राष्ट्रीय आंदोलन समिति ईपीएस-95

 के संबंध में प्रतिलिपि प्रस्तुत की गई

 * भारत के माननीय प्रधान मंत्री, नई दिल्ली।

 *माननीय गृह मंत्री, भारत सरकार, नई दिल्ली

 *माननीय वित्त मंत्री, भारत सरकार, नई दिल्ली *भारत की संसद के सभी माननीय सदस्य।

 * माननीय डॉ. टी. वी. सोमनाथन जी, सचिव [वित्त एवं व्यय] नई दिल्ली

 * माननीय सीपीएफसी, नई दिल्ली

 * केंद्रीय न्यासी बोर्ड, ईपीएफओ नई दिल्ली के माननीय सदस्य

 *माननीय पुलिस आयुक्त, नई दिल्ली

 3.